Sundar Pichai net worth क्या हैं? | 3 चीजों ने कैसे सुंदर पिचाई की जिंदगी बदल दी?

Google के SEO और भारतीय मूल के निवासी Sundar Pichai की जिंदगी से जुड़ी कुछ ऐसी बाते बताऊंगा जो आपको इससे पहले पता नहीं होंगी। Sundar Pichai के पिताजी ने किस तरह अपने पुरे साल भर की सैलरी कम्पनी से एडवांस में लेकर मेहनत करके सुंदर पिचाई को पढने के लिए USA भेजा।

Sundar Pichai जी का जीवन परिचय

Sundar Pichai net worth क्या हैं?

आज मैं आपको Google के SEO और भारतीय मूल के निवासी Sundar Pichai की जिंदगी से जुड़ी कुछ ऐसी बाते बताऊंगा जो आपको इससे पहले पता नहीं होंगी। Sundar Pichai के पिताजी ने किस तरह अपने पुरे साल भर की सैलरी कम्पनी से एडवांस में लेकर मेहनत करके सुंदर पिचाई को पढने के लिए USA भेजा। आप सोच सकते है पुरे साल भर की सैलरी सिर्फ सुंदर पिचाई की एक टिकट आती है, और सुंदर पिचाई चाहते थे की उनके साथ उनकी मां भी जाये लेकिन उतने पैसे नहीं थे।बड़ी मुश्किल से तो एक टिकट बन पाई थी, किस तरह 3 चीजों ने सुंदर पिचाई की जिंदगी बदली आज आप जानेंगे सुंदर पिचाई की जीवन से जुड़ी कुछ अहम् जानकारियां जो आपको भी आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करेगी।

अगर आपको सफलता पाना है तो आपको एक चीज हमेशा ठान लेना है कि अपना रास्ता नहीं भटकना हैं।

लेकिन वहीं जब Sundar Pichai एक दिन रास्ता भटक गए तो उन्होंने सोचा की जब मैं रास्ता भटक सकता हूँ।

तो सोचो कितने लोग रास्ता भटक जाते होंगे और यहीं से इन्होंने GOOGLE MAP का अविष्कार किया।

सुंदर पिचाई का जन्म और परिवार (Birth & family)

सुंदर पिचाई Full NameSundar Rajan Pichai
Sundar Pichai Birthday10 June 1972
Birth PlaceMadurai Tamil Nadu
father’s NameRaghunath Pichai
Sundar Pichai father’s OccupationJunior Electrical engineering
Sundar Pichai Mother’s NameLaxmi
Sundar Pichai wife NameAnjali Pichai

सुंदर पिचाई जी का जन्म 10 जून 1972 को तमिलनाडु के मदुरई में एक बहुत ही गरीब परिवार में हुआ।

Sundar Pichai का पूरा नाम सुंदर राजन पिचाई हैं, इनके पिताजी रघुनाथ पिचाई जी एक जूनियर इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग थे, सुंदर पिचाई जी के माता जी का नाम लक्ष्मी है। एक छोटे से दो रूम के मकान में पुरे परिवार रहते थे, एक रूम को इनलोगों ने किराये पर लगाया था, क्योंकि इनकी आर्थिक स्थिति उस वक्त नहीं थी, पैसे की बहुत तंगी थी। सुंदर पिचाई को शुरू से ही मशीन और टेक्नोलॉजी से बहुत लगाव था इसी में इनका ज्यादा मन लगता था। सुंदर पिचाई जी की जिंदगी में 3 चीजो ने बेहद अहम् रोल निभाया, जिससे सुंदर पिचाई की जिंदगी ने करवटे बदली

और एक ऐसा रास्ता अपनाया जिस पर एक बार चलना शुरू किया तो

कहीं रुके नहीं जब तक मंजिल तक पहुँच नहीं गए।

सुंदर पिचाई की शिक्षा – Education :

सुंदर पिचाई की प्राथमिक पढाई मदुरई में ही हुई, इंजीनियरिंग की पढाई इन्होंने IIT खड़गपुर (IIT Kharagpur – MTech) से की।

IIT खड़गपुर से सुंदर पिचाई जी ने B.Tech में ग्रेजुएशन की IIT Kharagpur से डिग्री लेने के बाद,

सुंदर पिचाई आगे की पढाई के लिए ये Stanford University (Private university in Stanford California) चले गए। इस Stanford university fees क्या है? इसकी तो कोई जानकारी नहीं है लेकिन जब आप इसमें एडमिशन लेंगे, और जब आप Pay करेंगे आप ऑनलाइन भी इसकी वेबसाइट पर जाकर payment करेंगे तो शायद वहां से पता चल जायेगा। लेकिन Stanford University के बारे अच्छे से एक दुसरे Article में बताऊंगा, लेकिन सुंदर पिचाई जी को किसी भी तरह का Fess Stanford University को नहीं देना पड़ा, क्योंकि सुंदर पिचाई जी को Scholarship (छात्रवृति) मिली थी यानि को सुंदर पिचाई एक भी पैसा नहीं देना था सिर्फ आने जाने का टिकट का पैसा लगना था। और सिर्फ एक टिकट लेने के लिए इनके पिताजी जी की पूरी एक साल की सैलरी लग गई थी।

सुंदर पिचाई जी का टिकट का पैसा छोड़कर बाकी जितना भी खर्चा उसके ऊपर आने वाला था

चाहे वो रहने का हो खाने – पीने का हों सब Stanford University उठाने वाली थी।

सुंदर पिचाई चाहते थे कि उनके साथ उनकी मां भी जाये लेकिन उस वक्त उनके पास उतने पैसे नहीं थे। सुंदर पिचाई पढने में बहुत तेज थे नंबर 1 थे। क्रिकेट भी खेलते थे अपने टीम ये कैप्टन रहते थे Allrounder थे, और सुंदर पिचाई पहली बार कंप्यूटर IIT खड़गपुर में ही देखा था। सुंदर पिचाई जी को हिंदी ज्यादा आती नहीं थी थोड़ी बहुत आती थी इंग्लिश तमिल आती थी।

Sundar Pichai & Family’s Struggle story

जब सुंदर पिचाई को scholarship मिली और जब पढने के लिए Stanford University जाना था। पढाई का खर्चा रहने का खर्चा खाने पिने का खर्चा सब Stanford University उठा रही थी। लेकिन जाने आने के लिए टिकट का खर्चा सुंदर पिचाई को खुद करना था। सुंदर पिचाई चाहते थे कि उनकी मां साथ में जाए लेकिन पिताजी की सैलरी उतनी नहीं थी उनकी माँ को भेज सके। सुंदर पिचाई के पिताजी की सैलरी मात्र 2000 रुपये थी, पुरे साल की सैलरी सुंदर पिचाई के पिताजी रघुनाथ जी ने अडवांस में ली तब जा के सुंदर पिचाई की एक टिकट आई। सिर्फ एक बेग पैक ले के जाना था बड़ा सूटकेस नहीं ले जा सकते थे, बैग पैक में सिर्फ 2 हजार रुपये खर्चे हो गए। आप सोच सकते हैं पुरे साल भर की सैलरी सुंदर पिचाई की एक टिकट में लग गई।

लेकिन वहीं आज पुरे एक साल की सैलरी में सुंदर पिचाई कई जहाज प्लेन खरीद सकता हैं।

इसे आप क्या कहेंगे, सुंदर पिचाई का घर (House) सिलिकॉन valley में है और ये कैलिफ़ोर्निया में हैं

और ये USA का सबसे समृद्ध और स्टेट माना जाता है। सुंदर पिचाई और हमलोगो में क्या अंतर है? बस इतना है की हम आधा से ज्यादा काम Google पर करते हैं और वो google के लिए काम करते हैं। सुंदर पिचाई जिंदगी को आसान बनाने के लिए अपनी पूरी जिंदगी टेक्नोलॉजी में लगा दिए। सुंदर पिचाई की मां एक स्टेनोग्राफर थी, स्टेनोग्राफर बोले गए शब्दों को typewriter की मदद से बहुत तेजी से लिख सकती है।

Sundar Pichai net worth : Income – सुंदर पिचाई की सैलरी कितनी हैं?

बात करे Sundar Pichai net worth का तो करीब 600 मिलियन डॉलर हैं, Indian रुपये में करीब 43 अरब 72 करोड़ 53 लाख रूपया (43,72,53,00,000) होता हैं। वहीं Sundar Pichai की annual income देखी जाये तो 1700 करोड़ से अधिक हैं, जब Sundar Pichai Google के SEO बने थे उस वक्त सुंदर पिचाई को 50 मिलियन डॉलर (3,64,29,67000) बोनस के रूप में दिए थे।

वहीं बात करे Sundar Pichai salary per Month की तो करीब 140 से 150 करोड़ है।

और Sundar Pichai salary per देखी जाये तो करीब 4 – 5 करोड़ रूपए हैं

Sundar Pichai Google के CEO कैसे बने?

सुंदर पिचाई Google के CEO बनने से पहले किसी McKinsey & company और Applied Materials कंपनी में काम करते थे।

Google Seo Sundar Pichai

उसके बाद सुंदर पिचाई Google के अंडर काम करने लगे तो माइक्रोसॉफ्ट कोई बड़ा ऑफिसर बहुत दिन से सुंदर पिचाई जी को follow कर रहे थे। उनको ओब्सेर्व (Observe) कर रहे थे, उस पर नजर रख रहे थे, उनके बारे जानने की कोशिश कर रहे थे। और एक दिन माइक्रोसॉफ्ट के ऑफिसर ने कहा चलो मेरे माइक्रोसॉफ्ट का SEO बन जाओ, 2013 की ये बात है। और सुंदर पिचाई जाकर अपने Google के मेनेजर से कहा की मैं जा रहा हूँ माइक्रोसॉफ्ट ज्वाइन करने मुझे वहां SEO बना रहे हैं। Google को लगा धमकी तो नहीं दे रहा है। तो इसके बॉस ने सोचा एक सर्वे किया जाये जाए इंटरनली अगर लोगो ने बोला इसे जाने दो ये हमारे उतने काम का नही है। अच्छा है निकल जायेगा लेकिन लोगी ने अगर सुंदर पिचाई को अच्छा बाताया तो हमारे लिए डिसीजन लेना आसान हो जायेगा।

तो इन्होंने सर्वे किया देश में Google के उस वक्त करीब 70 ऑफिस थे 1 लाख 35 हजार employees थे।

जिनमे से करीब 1 लाख 34 हजार लोगों ने कहा इसके बिना ये कंपनी नहीं चलेगी, तो सुंदर पिचाई को

जाने नही दिया और सुंदर पिचाई को 50 मिलियन (3,64,29,67000) 3 अरब 64 करोड़ 29 लाख 67 हजार रुपये का

बोनस दिया 2015 के अंदर ही सुंदर पिचाई को Google SEO बना दिया गया, जब भी सुंदर पिचाई रिजाइन करने की कोशिश करते गूगल उसे प्रोमोट कर देते। इस वजह से सुंदर पिचाई कभी Google छोड़ ही नही पाए।

सुंदर पिचाई को Google Map बनाने का आईडिया कहाँ से आया?

जब सुंदर पिचाई USA में थे वहां उनके किसी रिलेशन के यहाँ शाम में डिनर थी उनकी wife बोली की आपको चलना। तो सुंदर पिचाई ने कहा की तुम घर से ही निकल जाना मैं ऑफिस से ही उधर पहुँच जाऊँगा, उनकी बीबी अंजलि डिनर पर पहुँच गई। लेकिन जब वो शाम में ऑफिस से निकले तो वो बीच में कहीं रास्ता भटक गए और बहुत देर इधर उधर घुमते रहे और करीब 10 बजे पहुंचे। जब सुंदर पिचाई वहां पहुंचे तब तक डिनर खत्म हो चुकी थी और उनकी Wife वहां से जा चुकी थी। जब सुंदर पिचाई घर पहुंचे तो खूब डांट सुने। उनकी बीबी अंजलि कहती हैं, मुझे किन्ही और के साथ खाना खाना पड़ा किसी और के साथ आना पड़ा वो बहुत दुखी हुई और गुस्से में सुंदर पिचाई से कहा बाहर निकल जाओ घर से सुंदर पिचाई उदास होकर रात में ही ऑफिस निकल गए।

पूरी रात ऑफिस में बिताई और बहुत सोचे और कहा मैं रास्ता भटक गया और ना जाने कितने लोग

रास्ता भटक जाते होंगे। ऐसा क्या किया जाये की लोग रास्ता न भटके और अगले दिन पूरी टीम बुलाते हैं, और बोलते हैं की हम लोग कुछ ऐसा कर सकते हैं जिससे लोग रास्ता न भटके। तो हमलोग Map बना के लोगो की मदद कर सकते हैं, पहले इनकी टीम तैयार नहीं थी इस प्रोजेक्ट पर लेकिन बाद में किसी तरह कनवेंस किया। 50 लोगो की टीम बनाई लगातर कई दिनों तक मेहनत की और उसके बाद इनकी टीम ने नई coding तैयार की और पहली बार 2005 में Google Map लांच किया।

उसके बाद 2006 में UK में लांच किया फिर उसके बाद 2008 में इंडिया में लांच किया,

फिर उसके बाद Google Map को पुरे दुनिया में लांच किया गया और आज करीब 1 बिलियन user हैं।

Sundar Pichai को Google Lens बनाने का आईडिया कहाँ से मिला?

एक दिन सुंदर पिचाई अपने घर के गार्डन में बैठे थे तब उसकी बेटी एक फुल लेकर आते हैं,

और अपने पिता सुंदर पिचाई जी पूछते हैं कि ये कौन सा फुल है तो कहा मुझे नहीं पता।

फिर उसकी बेटी एक और फुल ले के आई फिर पिता से पूछी ये कौन सा फुल है, फिर कहा मुझे नही पता और बेटी हंस पड़ी, और कहा कहने को तो आप IIT, Stanford University, Wharton university के पढ़े हो। और आपको एक फुल का नाम तक पता नही, सुन्दर पिचाई अंदर से थोड़ा शर्मिंदगी महसूस करने लगा। मैं इतना पढ़ा लिखा मुझको नही पता और जो सामान्य आदमी है उसे तो और परेशानी होती होगी। और कुछ दिन बाद सुंदर पिचाई 20 लोगो की टीम बुलाई और कहा की एक नया सॉफ्टवेयर बनाना हैं, Google Lens जिससे अगर किसी भी चीज को स्कैन किया जाये तो उसके बारे में सब कुछ Details आ जाये। ये सफल रहा आगे चलकर ये असरदार साबित हुआ और इस प्रकार Google Lens का आविष्कार हुआ।

तो आपने सुंदर पिचाई की टैलेंट देखी किसी भी छोटी सी छोटी चीज को technology में बदल देते हैं

सुंदर पिचाई ने Google Translator कैसे बनाई : इसका आईडिया कहाँ से आया?

एक बार सुंदर पिचाई किसी काम से चाइना गए तो जब vegetarian खाना खाने गए तो खाना नहीं खा पाए। क्योंकि इनकी भाषा वहां कोई चाइनीज लोग समझ ही नहीं पा रहे थे, और साथ में न कहीं ट्रेवल कर पा रहे थे, न शॉपिंग कर पा रहे थे। जहाँ भी जाए अधिकांश सब चाइनीज भाषा ही बोले सुंदर पिचाई को कुछ समझ में ही न आये। सुंदर पिचाई जी बोले vegetarian मसाला ढोसा चाइनीज को कुछ समझ ही न आये, सुंदर पिचाई जी बहुत परेशान हुए। और वापस होटल चले गए और वहां से सिलिकॉन Velley फोन लगाया, और बोला 25 टॉप लोग चाहिए सारे Tech Head को चाइना भेजो। और उन लोगो को कहा एक Google Translator सॉफ्टवेयर का coding बनाते हैं जिससे भाषा को translate किया जा सके। मुझे यहाँ ढंग का vegetarian खाना नहीं मिल रहा है, चाइना में मेरी कोई बात समझ नहीं पा रहें।

मैं एक Google Translator बना देता हूँ, सुंदर पिचाई ने शुरू में Google Translator को दो भाषा में बनाई।

और ये आज करीब 108 भाषा में Google Translator चल रही है, और इस तरह Google Translator का जन्म हुआ।

Google Photo का जन्म किस प्रकार हुआ : सुंदर पिचाई को इसका आईडिया कहाँ से मिला?

सुंदर पिचाई के पिताजी जब बीमार पड़े तो सुंदर पिचाई मिलने के लिए जब वो अपने गाँव आये तो

उनकी जो दादी थी जब उनकी फोटो को देखा की मोम के कलर से रंग दिया गया जो बचपन में रंग हमलोग इस्तेमाल किया करते थे। तो सुंदर पिचाई ने पूछा ये क्या किया आपने दादी की Black & White फोटो को रंग क्यों दिया आपने, तो सुंदर पिचाई के पिताजी ने कहा की मैं उसमे कुछ रंग भरना चाहता था ये बात सुंदर पिचाई की दिल को छू गई। और उसने सोचा Black & White फोटो को कलर करने के लिए ऐसा करे जिससे एक चुटकी में Black & White फोटो कलर बना दे। और वहीं से सुंदर पिचाई को Google Photo बनाने का आईडिया आया। और यहाँ से Goo gle Photo का जन्म होता और Google Photo का आविष्कार होता है, जिसमे आपको बहुत सारे फ़िल्टर है और एडिट option मिल जाते हैं।

सुंदर पिचाई को Google Assistant बनाने का आईडिया कहाँ से मिला?

एक बार सुंदर पिचाई के बॉस ने बोला की उन देशो को cover करो जहाँ Google Product इस्तेमाल नहीं हो रहा हो। उस वक्त ऐसे बहुत से देश थे जहाँ Google का ज्यादातर Product इस्तेमाल नहीं हो रहा था। तो खास करके एक देश पर सुंदर पिचाई की नजर गई, टोंगा सुंदर पिचाई वहां जाना चाहते थे जहाँ के बारे में उनको कुछ पता भी नहीं था। जब उसके बारे में Sundar Pichai ने रिसर्च करना चाहा Google पर खुद सर्च किया तो, उसके बारे में कुछ ज्यादा जानकारी नहीं मिल पा रही थी। बोला ऐसे तो बहुत वक्त लग जाएगा, और यहाँ इन्होंने सोचा क्यों न ऐसा कुछ बना दिया जाये जिससे की मुझे Google पर बार बार कुछ लिखना ही न पड़े। और सारी जानकरी चुटकी में मिल जाए मैं उससे कुछ भी पूंछू उसका जवाव वो तुरंत बोल के के बता दे।

उसके बाद सुंदर पिचाई ने Google Assistant पर काम किया और उस समय सिर्फ कुछ कमांड ही काम रही थी

जैसे की गाने सुनने के लिए Google Assistant को काम में लिया जा रहा था फिर बाद में

सुंदर पिचाई ने Google Home लांच किया, जिसके माध्यम से Smart TV, Smart Light, Smart Ac और अन्य Smart Gadget

को बड़े आसानी से Google Home को कमांड देकर कंट्रोल किया जा सकता और ऐसा ही हो रहा है।

Google Search को सुंदर पिचाई ने इतना Fast कैसे बनाया?

Google search तो सुंदर पिचाई के Google ज्वाइन करने से पहले से ही था लेकिन Slow था,

जब 2008 के आसपास सुंदर पिचाई अपने Hard Disc में कुछ documents ढूंढ रहे थे। उस document को ढूँढने में सुंदर पिचाई को करीब 15 मिनट लग गए, इससे सुंदर पिचाई बहुत परेशान हो गए। फिर इन्होंने देखा की Google Search में भी यही Problem है उस वक्त और भी कई सर्च इंजन (Search Engine) थे। सब में Search Result खोजने में करीब 35 से 45 सेकेण्ड लग जाते थे, और कभी कभी तो 1 मिनट लग जाता था। उसके बाद इन्होंने अपनी टीम बुलाई और कहा Google Search में सर्च करने पर उसका रिजल्ट आने में बहुत समय लग जाता है। जिससे बहुत disturbing होती हैं, क्यों न ऐसा किया जाये की कोई भी सर्च करे ऊँगली जैसी ही पीछे करे और उतने में Search Result आ जाये। इसमें सुंदर पिचाई की टीम ने कहा की जब 17 कम्पनियाँ इस समस्या को अभी तक सुलझा नही पाई

तो भला हमलोग कैसे इस समस्या को ठीक कर सकते हैं, ये हमारे लिए मुश्किल है, नहीं हो पाएगा।

और जब तुम्हारे Hard Disc में नहीं हो पाई तो Google पर कैसे हो जायेगी इनकी टीम तैयार नहीं थी।

सुंदर पिचाई की टीम छोड़ के भाग गई, उसके बाद इन्होंने एक नई टीम बनाई, और रात दिन Google Search पर काम किया। इसके लिए सुंदर पिचाई ने Data Centre बनाने का फैसला किया और USA में करीब 21 DATA Centre की स्थापना की और पुरे worldwide में करीब 22 Data Centre बनाये गए। और Google को इतना फ़ास्ट बनाया कि जो बाकि कम्पनियाँ थी सब भाग गई और कुछ धीरे धीरे कमजोर पड़ गई और उसे खुद बंद कर दी।

Google Search जैसी कंपनी और कौन कौन सी कम्पनियाँ थी?

  • Yahoo
  • WebCrawler
  • Lycos
  • AltaVista
  • Ask Jeeves
  • MSN

बच्चों के लिए अलग से Sundar Pichai ने YouTube Kid बनाया

एक बार सुंदर पिचाई को पता चला कि उसका एक employee बहुत छुट्टी ले रहा है, ये सोचने लगा ये बार बार इतना छुट्टी क्यों ले रहा हैं। ऑफिस आता है कब जाता है उसका कोई टाइम टेबल ही नही है, एक दिन बुलाया उसको और पूछा इतना छुट्टी क्यों ले रहे हो। समस्या क्या है आखिर मुझे बताओ, तो उसने बताया कि मेरा 6 साल का एक बेटा है, उसे स्कूल से कुछ प्रोजेक्ट मिला और प्रोजेक्ट YouTube से देखकर बनाता है। और जब मैंने Browse की हिस्ट्री देखी तो मैंने क्या देखा की वो कुछ और ही देख रहा था कुछ गलत कंटेंट देखना शुरू कर दिया था। और अगर आज मैंने इस age में उसका ध्यान नहीं रखा तो पूरा उसका Future बिगड़ सकता है। मुझे लगता है मुझे उसे ज्यादा टाइम देना चाहिए, सुंदर पिचाई सोचे इससे तो न जाने कितने बच्चो का नुकसान होता होगा।

YouTube पर तो लोग आज कुछ भी ऐसे कंटेंट डाल देते हैं, हम चाहे जितना कोशिश कर ले YouTube पर ऐसे content को डालने से रोक पाना मुश्किल है। हम कितना भी कण्ट्रोल कर ले बच्चे मानेंगे ही नहीं, तो सुंदर पिचाई ने सोचा कुछ ऐसा किया जाये कि बच्चो के लिए उनको बार बार बैठ के देखना न पड़े। और 2019 में सुंदर पिचाई ने YouTube Kid लांच किया जिसमे सिर्फ Kid से रिलेटेड ही विडियो उपलोड किये जाते हैं और दिखाये जाते हैं। सुंदर पिचाई जी हर समस्या का समाधान करने में सबसे अव्वल हैं इसका कोई दूसरा जवाब ही नही है

सुंदर पिचाई के पास कौन कौन सी Opportunity आई थी?

Sundar Pichai photo

जब सुंदर पिचाई Google के अंडर काम करना शुरू किया था, तब सुंदर पिचाई पर Microsoft का कोई ऑफिसर उस पर नजर रख रहा था क्योंकि उसकी क़ाबलियत को उसने पहचान ली थी। और एक दिन सुंदर पिचाई से कह ही देता है कि चलो मेरे कम्पनी का SEO बन जाओ। लेकिन सुंदर पिचाई मना कर देते हैं, फिर उसके बाद Twitter, Alphabet बाद में Alphabet गूगल के ही अंडर आ गई।

3 Childhood’s moments of Sundar Pichai that changed his whole life

जब सुंदर पिचाई के घर टेलीफोन लगा तब सुंदर पिचाई हैरान हो गए की जब फ्रिज आया तो माँ का वक्त बच गया। मां खाना बना के फ्रिज में रख सकती थी उसे हमलोग बाद में भी खा सकते थे, मां को खाना बनाने में ज्यादा वक्त नहीं देना पड़ेगा। जिससे मां बच्चो को ज्यादा वक्त दे पाती थी, और जब स्कूटर आया तो पिताजी बच्चो को वक्त देने लगे और उस वक्त सुंदर पिचाई के दिमाग में एक बात फिक्स हो गई। कि टेक्नोलॉजी और मशीन से वक्त बचाया सकता है और बचे वक्त में इन्सान अपने परिवार को वक्त दे सकता है, बच्चो को खाली वक्त में कुछ सिखा सकता हैं। यहाँ से इनके जीवन में बदलाव आता है और टेक्नोलॉजी में कुछ करने की प्रेणना मिलता है।

एक बार तो इन्होंने अपने घर का टेलीफोन तक खोल डाला और बाद में उसे बंद ही नहीं कर पा रहे थे। और उसके बाद क्या होना था जो सबके साथ होता है पिताजी ने कुटाई कर दी। और उस दिन उनके पिताजी को समझ आ गई की ये बच्चा एक दिन जरुर कुछ ऐसा करेगा हमारा नाम ऊँचा करेगा। पिताजी ने भी आगे की पढाई में हमेशा साथ रहे और हर कदम पर अपने बेटे की हर मुश्किल घड़ी में आर्थिक स्थिति ठीक न होने के बावजूद भी किसी तरह मदद जरुर करते थे। और आज उनकी मेहनत और लगन सुंदर पिचाई को ऐसे मुकाम पर लाकर खड़ा किया जिसका बराबरी आज कोई भारतीय नहीं कर सकता है।

Sundar Pichai Upcoming Google Product in Year 2021 – 2022

  • Robots – Cheetah Robots –
  • Big Drones – इस ड्रोन से एक लोगो को एक जगह से दूसरी जगह ले जाया जा सकता है।
  • Extending lifespanइसकी मदद से हमारे शरीर के जिन में परिवर्तन कर life age को बढाया जा सकता है।
  • Hot Air Balloons – जहाँ पर internet connectivity नहीं वहां बड़े बड़े बैलून की सहयाता से internet provide किया जायेगा।
  • Advanced Artificial intelligence –
  • Long Lasting Batteries
  • Cancer Detecting Pills

सुंदर पिचाई के साथ IIT Kharagpur में घटी एक घटना

जब सुंदर पिचाई ने IIT खड़गपुर में एडमिशन कराया था तो उन्हें ज्यादा हिंदी नहीं आती थी

इंग्लिश और तमिल आती थी। एक बार IIT खड़गपुर में सुंदर पिचाई किसी को आपस में बात करते सुना अबे साले शब्द सुंदर पिचाई को साले का मतलब नहीं पता था। सुंदर पिचाई जी को लगा की यहाँ सब Friendly में यहाँ सब ऐसे ही बाते करते हैं, एक दिन अपने से बड़े सीनियर को बड़े Confidence अंदाज में कैन्टीन में बोलता है, अबे साले पहले मुझको खाने दे मेरा क्लास शुरू होनेवाला है। सुंदर पिचाई को लगा उसको अच्छा लगेगा लेकिन उसके सीनियर क्लास के छात्रो ने पकड़ के पिट दिया। उनको कहाँ पता था की साले बोलने भला कोई यहाँ उन्हें पीट देगा, वो इतना मासूम (innocent) थे की उनको एक गाली तक पता नहीं थी की साले से कोई बुरा मान जायेगा।

Default image
Anshuman Choudhary

Leave a Reply

%d bloggers like this: